जातिवाद हुआ लोकसभा चुनावों पर हावी
आपके अनुसार इस लेख को पहली बार वोट दें 0 comments 1628Visits Amrita Katara
Related Articles
देश के सबसे बड़े लोकतंत्र के महापर्व कि तैयारियां एक और जोर शोर से चल रही है वही देश कि एकता और सदभावना को खतरा पैदा होता जा रहा है इस बार का चुनाव कही पार्टीवादी , व्यक्तिवाद और जातिवाद होता जा रहा है एक और जहाँ कुछ प्रत्याशी भाजपा , कोंग्रेस , और मोदी के नाम पर वोट मांग रहे है वही यदि वोट कि राजनीती कि धरातलीय स्तिथि का आंकलन किया जाये तो स्तिथि कुछ और नजर आयेगी

जयपुर का चांदपोल गजट हो या फिर भरतपुर का चौबुर्जा गजट कि चर्चाएं जातिगत अधर पर वोटों के समीकरण निर्धारित करते समाज के कुछ ठेकेदार आपको कही भी दिख सकते है इन दिनों इन ठेकेदारों पर जातिवाद का भूत सवार है जिसके चलते ये देश कि जनता को विभिन्न जातियों के विकास के नाम पर ,समृद्धि के नाम पर राजनीती का पाठ पड़ा रहे है

गौरतलब है कि देश कि राजनीती में स्वतंत्रता से पूर्व से लेकर आज तक राजनितिक पार्टियां मुस्लिम समुदाय के नाम पर जैम कर राजनीती करती आयी है फिर वो उन्हें आरक्षण देने का मामला हो फिर न्याय से लेकर विकास तक का ऐसे में देश कि सबसे बड़ी पार्टी कही जाने वाली कोंग्रेस चुनावों के नजदीक आते ही मुस्लमानो को लुभाने के प्रयास करने शुरू कर देती है फिर आरक्षण देने का मामला ही क्यों न हो या फिर देश में होने वाले विभिन्न मामलों में उनकी भूमिका वही यदि बात एक नजर टिकिटों के वितरण पर डाले तो हमे नजर आयेगा सपूर्ण जातियों को ध्यान में रखकर ही टिकिटों का आवंटन इस बार किया गया है
| More

Your Comments

0 comments

Discussions

 
Press Ctrl+G To Change Between Hindi and English
Your Name :  
Email Address :  
Your Comment :  

Your Poll
How Much Tension generated through security risks.



Breaking News